Monday 23rd May 2022

मुख्यमंत्री चौहान की जापान यात्रा के पहले दिन ही 15 हजार करोड़ निवेश के प्रस्ताव

Sep 29th, 2015 4:12 pm | By | Category: SPECIAL NEWS COVERAGE

IMG-20150929-WA0026

प्रदेश की मेट्रो रेल परियोजनाओं सहित बुनियादी ढाँचे के निर्माण में होगा निवेश मुख्यमंत्री चौहान की जापान के अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के पदाधिकारियों से भेंट.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जापान-कोरिया यात्रा का पहला दिन प्रदेश के लिये बहुत ही लाभदायी रहा। चौहान ने आज टोक्यो में जापान की विभिन्न संस्थाओं और संगठनों के वरिष्ठ पदाधिकारियों से भेंट की। फलस्वरूप प्रदेश के बुनियादी ढाँचे में 15 हजार करोड़ रूपये के निवेश की सौगात मिली। यह निवेश प्रदेश में ऊर्जा, ग्रामीण पेयजल, मेट्रो रेल परियोजना और जापानी औद्योगिक बस्ती स्थापना के प्रयासों में होगा। प्रदेश में निवेश के लिये जापानी निवेशकों को आकर्षित करने में भी सहयोग का आश्वासन दिया गया।

IMG-20150929-WA0027

मुख्यमंत्री चौहान से जापान अंतर्राष्ट्रीय सहयोग संस्था (जे.आई.सी.ए.) के उपाध्यक्ष हाईडेकी डोमिची ने भेंट की। इस दौरान संस्था के साथ भोपाल-इंदौर के लिये मेट्रो रेल, ऊर्जा क्षेत्र में विद्युत पारेषण और ग्रामीण पेयजल परियोजनाओं में वित्त पोषण के 15 हजार करोड़ रुपये के निवेश की सहमति बनी।

चौहान ने जापान एक्सटर्नल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (जे.ई.टी.आर.ओ.) के पदाधिकारियों के साथ प्रदेश में जापानी औद्योगिक टाउनशिप बसाने की परियोजना में सहयोग के लिये मेमोरेंडम ऑफ कोऑपरेशन भी हस्ताक्षरित किया।

मुख्यमंत्री चौहान के टोक्यो प्रवास के पहले दिन जापान बैंक ऑफ इंटरनेशनल कोऑपरेशन (जे.बी.आई.सी) के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने श्री चौहान से भेंट की। उन्होंने श्री चौहान को प्रदेश में जापानी निवेशकों को आकर्षित करने के प्रयासों में सहयोग करने की सहमति दी।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री चौहान की इस यात्रा से जापान की व्यापारिक और व्यवसायिक संस्थाओं में प्रदेश में निवेश के प्रति‍भारी उत्साह दिखाई दे रहा है। मुख्यमंत्री ने व्यापारिक संगठनों और अंतर्राष्ट्रीय बैंकों के प्रबंधकों से चर्चा के दौरान राज्य में निवेश की व्यापक संभावनाओं पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश दुनिया में निवेश का मॉडल डेस्टिनेशन है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में जापानी और साउथ ईस्ट एशियन कंपनियों के अलग से क्‍लस्टर भी बनाये जा रहे हैं।

Government News

Comments are closed.